[2023] How To Become a Forensic Scientist In Hindi?

How To Become a Forensic Scientist In Hindi: जब भी हम क्राइम पर ब्रेस्ट कोई मूवी देखते हैं फिर देखते हैं तो लगता है कि कभी कभी ना मौका मिलना चाहिए कुछ ऐसी चीजों को सॉल्व करने का लेकिन हाउस के लिए और दिमाग भी साफ हो रहा है चाहिए क्या आप किसी ऐसे प्रोफेशन की चाहत रखते हैं जिसमें आपको क्राइम सॉल्व करने का मौका मिले लेकिन इसके साथ ही आपका मन यह भी चाहता है कि अब टाइम भी बने और अगर इन दो डिजायर्स में आप कंफ्यूज हो गए हैं तो आपके लिए बेस्ट प्रोफेशन हो सकता है फॉरेंसिक साइंटिस्ट का जिसमें आपकी ये दोनों डिजायर्स पल-पल हो सकती है है ना ग्रेट आईडिया तो फिर चली आज फॉरेंसिक साइंस और फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनने से जुड़ी इंपॉर्टेंट जानकारी ही ले लेते हैं.

How To Become a Forensic Scientist In Hindi?

How To Become a Forensic Scientist In Hindi?

ऐसे फॉरेंसिक साइंस का नाम सुनकर आपको पता तो चल ही गया होगा कि जहां क्राइम है वहां फॉरेंसिक साइंस भी है फॉरेंसिक साइंटिस्ट के रोल को हमने निकल फेमस टीवी सीरियल्स में करीब से देखा भी है इसलिए अब आप भी जानते होंगे कि फॉरेंसिक साइंस साइंस का एक ऐसा डिसिप्लिन है जो फिजिकल क्राइम्स और उसकी एविडेंस एनालाइज करने के लिए यूज किया जाता है और जब साइंस और टेक्नोलॉजी के एप्लीकेशंस को क्राईम डिटेक्शन से कनेक्ट कर दिया जाता है तो यह फॉरेंसिक साइंस कहलाती है

इसी वजह से ही जुडिशल सिस्टम का एक एसेंशियल पार्ट बन चुके हैं और हां एक फॉरेंसिक साइंटिस्ट केवल क्राइम केस इस पर ही काम नहीं करता बल्कि सिविल केसेस पर भी काम करता है एक मल्टीडिसीप्लिनरी सब्जेक्ट है जिसमें आफ फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, साइकोलॉजि, पॉलिटिक्स, इंजीनियरिंग, एंथ्रोपोलॉजी, टॉक्सिकोलॉजी, पैथोलॉजी और साइबर क्राइम जैसे सब्जेक्ट की स्टडी करेंगे फॉरेंसिक साइंस के कई सारे टाइप्स होते हैं जैसे कि डिजिटल फॉरेंसिक, फॉरेंसिक पैथोलॉजी, फॉरेंसिक लिंग्विस्टिक, फॉरेंसिक इंजीनियरिंग, ब्लडट्रेन पैटर्न एनालिसिस, फॉरेंसिक साइकोलॉजी, फॉरेंसिक टॉक्सिकोलॉजी, फॉरेंसिक अकाउंटिंग, फॉरेंसिक डीएनए फिंगर प्रिंटिंग और फॉरेंसिक केमिस्ट्री.

अब अगर आपका भी इंटरेस्ट और टाइटेनिक फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनने का है तो यह आर्टिकल आपको जरूर से पढ़ना चाहिए ताकि आपको पता चल सके कि फॉरेंसिक साइंटिस्ट का काम क्या होता है एक फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनने के लिए कौन से स्किल्स और एजुकेशन की जरूरत होती है कौन सी कॉलेजेस बेस्ट एजुकेशन ऑफर करते हैं और रिक्रूटर जॉब्स सैलेरी पैकेजेस सारी इंपॉर्टेंट इंफॉर्मेशन आपको इस आर्टिकल में मिलने वाली है इसलिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़ते रहिये तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले ही जानती हैं कि फॉरेंसिक साइंटिस्ट क्या करता है

What Does a Forensic Scientist Do In Hindi?

एक इन्वेस्टिगेशन प्रोसेस के दौरान एविडेंस को कलेक्ट करना प्रिजर्व करना और साइंटिफिक ली एनालाइज करना फॉरेंसिक साइंटिस्ट का काम होता है इसके लिए फॉरेंसिक साइंटिस्ट क्राइम सीन को विजिट करके वहां से एविडेंस कलेक्ट करता है और मेडिकल लैबोरेट्री का यूज करके क्राइम के पीछे का सच सामने लाता है ऐसे में फॉरेंसिक साइंसेज की जिम्मेदारी भी काफी बड़ी होती है जिसमें सिर्फ प्राइमसील से एविडेंस कलेक्ट करना ही नहीं होता बल्कि एविडेंस की कंप्रिहेंसिव रिपोर्ट को तैयार करना नेसेसरी डॉक्युमेंट्स की वैलिडिटी की आर्थिक स्थिति लुईस टेंपल की टेस्टिंग करना कलेक्ट्रेट एविडेंस पर तीन सौ मार्क्स को एनालाइज करना क्राइम सीन से मिली डिवाइस और गैजेट्स इंफॉर्मेशन कलेक्ट करना और एविडेंसेस के दौरान लीगल और लोकप्रिय साइंटिफिक प्रोसीजर्स फॉर अप्लाई करने के लास्ट विच इंक्लूड होते हैं

ऐसे में फॉरेंसिक साइंटिस्ट में बहुत सारे तिल का होना भी ज़रूरी हो जाता है जैसे कि हाईली लॉजिकल माइंड हर डिटेल पर अटेंशन स्ट्रांग टेक्निकल स्किल्स एनालिटिकल स्किल ऑफ द बेस्ट साइंस के डिफरेंट फील्ड्स की नॉलेज एक्स्ट्राऑर्डिनरी रीजन एंड पॉलीटिकल वीकली वोट करने की कैपेबिलिटी साइकोलॉजिकल करने के लिए और अपने काम में डेडीकेशन और कॉन्फिडेंस. फॉरेंसिक साइंटिस्ट का रोल रिस्पांसिबिलिटी और स्किल्स जान लेने के बाद अब यह जाना बेहतर होगा कि अगर आप एक फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनना चाहे इसके लिए आपको क्या-क्या करना होगा तो चलिए जान लेते हैं

सबसे पहले तो बैचलर डिग्री कंप्लीट कीजिए यानी कि फॉरेंसिक साइंटिस्ट बनने के लिए सबसे पहले आपको इस बिल की नॉलेज लेनी होगी जिसके लिए डिग्री कंप्लीट आपको करनी ही होगी इससे सबसे पहले आप बैचलर डिग्री लीजिए जैसे बीएससी फॉरेंसिक साइंस जो 3 साल की ड्यूरे शंका बैचलर डिग्री कोर्स है और इसके सिलेबस में फॉरेंसिक पैथोलॉजी साइकाइट्रिक और फॉरेंसिक मेडिसिन और ओंटोलॉजी जैसे एसेंशियल कॉम्पोनेंट शामिल है इसको कोर्स में एडमिशन के लिए आपका टेन प्लस टू क्लास साइंस स्ट्रीम से किसी रिकॉग्नाइज्ड बोर्ड से मिनिमम 55 परसेंट से पास करना जरूरी होगा.

Courses

इस कोर्स में एडमिशन मेरिट बेस पर और एंटरेंस टेस्ट किस पर होता है और ऐसे कुछ इंक्रीज चेस्ट है DUET, KIITEE, SAAT, KSET इत्यादि. किस कोर्ट केस इसमें आपको कॉलेज के अकॉर्डिंग वेरिएशन मिलेगा लेकिन एवरेज कोर्स की फीस 30,000 से 2,50,000 तक रहेगी. बैचलर डिग्री के साथ-साथ इंटर्नशिप अपॉर्चुनिटी ग्रेट कीजिए ताकि आपको दृष्टिकली नॉलेज को इंडस्ट्री एक्सपोजर मिल सके और इतना एक्सपीरियंस तो मिल जाए तो इस सूटेबल जॉब मिल सके इसके लिए आप प्राइवेट डिटेक्टिव एजेंसी इन सेंट्रल गवर्नमेंट फॉरेंसिक साइंस लैब हॉस्पिटल पुलिस डिपार्टमेंट कॉल लॉक होम्स में इंटर्नशिप ले सकते हैं

बैचलर डिग्री के बाद आफ फॉरेंसिक साइंस बिल में एंट्री तो ले सकते हैं लेकिन अगर आप फॉर द स्टडी का इरादा देखेंगे तो मिलने वाले करियर ऑप्शंस और पोजीशन शारदा फेवरेबल हो सकते हैं इसलिए आप चाहे तो उसके बाद मास्टर्स डिग्री भी ले सकते हैं जैसे एमएससी इन फॉरेंसिक साइंस जो कि 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है यह कौन कैंडिडेट को फॉरेंसिक साइंस में प्रोफेशनल्स गोल्स के लिए तैयार करता है इस कोर्स में एडमिशन के लिए आपके पास साइंस इंजीनियरिंग फॉर मिस यू और मेडिसिन में से किसी भी एरिया में बैचलर डिग्री होनी जरूरी है और ग्रेजुएशन लेवल पर 60% डिस्को होना भी इस कोर्स में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम के बेस पर होता है इसकी एवरेज भी 20,000 से ₹2,00,000 तक हो सकती है

College

इंडिया के जिन कॉलेज इससे आप यूजी एंड पीजी कोर्सेज कर सकते हैं वह है लेडी हार्डिंगे मेडिकल कॉलेज न्यू दिल्ली, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज न्यू दिल्ली, इंस्टीट्यूट आफ फॉरेंसिक साइंसेज मुंबई, लोकनायक जयप्रकाश नेशनल इंस्टीट्यूट आफ क्रिमिनोलॉजी एंड फॉरेंसिक साइंसेज यानी कि एलएनडीएन न्यू दिल्ली, नेशनल पॉलिटिक्स साइंस यूनिवर्सिटी गांधीनगर, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी जालंधर, एसजीटी यूनिवर्सिटी गुरुग्राम, एमिटी यूनिवर्सिटी गुड़गांव, गुजरात यूनिवर्सिटी अहमदाबाद और गलगोटियस यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा इसके बाद अगर आप चाहें पीएचडी यानी कि डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन फॉरेंसिक साइंस, डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन एनालिटिकल केमिस्ट्री, डॉक्टर आफ फिलासफी इन क्रिमिनोलॉजी भी कर सकते हैं फॉरेंसिक साइंस में सर्टिफिकेट डिप्लोमा और पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा कोर्स भी ऑफर किए जाते हैं इसलिए आपका एडवांटेज दे करके भी अपनी नॉलेज को ऐड कर सकते हैं

Job

और फिर बारी आएगी जॉब अपॉर्चुनिटी से अपलोड करने की तो क्योंकि डिक्रीज और इंटर्नशिप कंप्लीट करने के बाद आपसे लिए सूटेबल जॉब एक टाइप कर सकते हैं हालांकि कॉन्पिटिटिव प्रैक्टिकल नॉलेज आपकी काफी मदद कर सकती है इसलिए ना भूले और उसके बाद इसकी जॉब के लिए अप्लाई कर दे और इसके लिए आप सीबीआई गवर्मेंट फॉरेंसिक लैबोरेट्री इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इंटेलिजेंस ब्यूरो के अलावा हॉस्पिटल्स पुलिस डिपार्टमेंट लॉक होम्स प्राइवेट डिटेक्टिव एजेंसी इन क्वालिटी कंट्रोल ब्यूरो में भी अप्लाई कर सकते हैं और मल्टीनेशनल कंपनीज बैंक और स्पोर्ट्स अथॉरिटी मैं भी वर्क ऑप्शंस अवेलेबल होते हैं

और खुद का फॉरेंसिक प्रैक्टिस इन फॉरेंसिक सबवे भी ओपन किया जा सकता है वैसे आपको बता दें कि इस प्रोफाइल के अलावा आप तो नजदीक पैथोलॉजिस्ट क्राइम सीन एग्जामिनर फॉरेंसिक आईटी स्पेशलिस्ट इन लैबोरेट्री एनालिस्ट और फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट की प्रोफाइल के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं

Salary

सैलरी पैकेज की बात है फॉरेंसिक साइंटिस्ट सात से आठ लाख पर एनम सैलेरी कमा सकता है सैलेरी पैकेजेस वीडियो सेंट्रल गवर्नमेंट के अंडर या प्राइवेट फॉर्म के अंदर वॉक करने के अकॉर्डिंग वेरी करता है और इस पेशे के तौर पर यह सैलरी पैकेज तीन से चार लाभ पर एनम से शुरू हो सकता है

Conclusion:
इस तरह आप प्रॉपर एजुकेशन लेकर के और इंटर्नशिप के दौरान परफॉर्मेंस देकर कि अपने लिए गुड अपॉर्चुनिटी के सारे दरवाजे खोल सकते हैं तो यह आर्टिकल यहीं पर समाप्त होती है मिलते हैं किसी दूसरे आर्टिकल में तब तक के लिए धन्यवाद यह आर्टिकल आपको कैसा लगा अपनी राय आप कमेंट के जरिए हमें बता सकते हैं.

HomePagehirings.org.in

Leave a Comment